बिहार - एक परिचय

Dilkash 5 मिनट 9/4/2020
बिहार - एक परिचय

दोस्तों onehindee.com के पेज पर आपका स्वागत है। अगर आप बिहार के बारे में जानना चाहते है तो ये ब्लॉग आप है के लिए है। इस ब्लॉग में हम आपको बिहार के बारे में विस्तार से बताएंगे और उम्मीद है कि इससे आपको बहुत सारी जानकारी मिलेगी जो कि आपको सामान्य ज्ञान बढ़ाने में मदद करेगी।

बिहार असल में विहार से बना है, विहार का मतलब होता है शिशुओं का आवास। बौद्ध विहारों कि बहुलता के वजह से तुर्को ने इस क्षेत्र को विहारों का प्रदेश कहा, जो बाद में बिहार हो गया।

बिहार की स्थापना 22 मार्च, 1912 में हुई और इसकी राजधानी पटना है।

  • बिहार का राजकीय चिन्ह बोधिवृक्ष है।
  • बिहार का राजकीय भाषा हिंदी है
  • बिहार की द्वितीय राजकीय भाषा उर्दू है।
  • बिहार का राजकीय खेल कबड्डी है
  • बिहार का राजकीय वृक्ष पीपल है। पीपल वृक्ष के सभी भाग उपयोगी होते है। इसके पके हुए फल हृदय संबंधित बीमारियों के इलाज में उपयोग में लाए जाते है
  • बिहार का राजकीय फूल गेंदा है। इसे लोग अपने बग़ीचे में आसानी से उगा सकते है।
  • बिहार का राजकीय पक्षी गौरैया है। गौरैया के संरक्षण के लिए इसे राजकीय पक्षी घोषित किया गया है।
  • बिहार का राजकीय पशु बैल है। कृषि के क्षेत्र में इस पशु का बहुत महत्व है। आधुनिक तरीके से कृषि करने के वजह से इसकी उपयोगिता में कमी आई है, और इसके संरक्षण के लिए इसे राजकीय पशु घोषित किया गया है।
  • बिहार राज्य का प्रतीक चिन्ह बिहार सरकार का आधिकारिक चिन्ह है। राज्य का प्रतीक दो स्वस्तिक से घिरे बोधि वृक्ष को दर्शाता है।

बिहार की आबादी

2011 के जनगणना के अनुसार बिहार की कुल आबादी 10,40,99,452 है, जिसमें पुरुषों की संख्या 5,42,78157 है, और महिलाओं की जनसंख्या 4,98,21,295 है। पटना बिहार का सबसे ज़्यादा जनसंख्या वाला ज़िला है, जबकि शेखपुरा सबसे कम आबादी वाला ज़िला है

साक्षरता दर

बिहार में साक्षरता दर 61.8% है, जिसमें पुरुष साक्षरता दर 72.2% और महिला साक्षरता दर 51.5% है। साक्षरता दर के अनुसार बिहार का देश में 36 वां स्थान है। रोहतास बिहार का सर्वाधिक साक्षरता दर वाला ज़िला है जबकि पूर्णिया बिहार का सबसे कम साक्षरता वाला ज़िला है।

राजनीतिक परिचय

  • बिहार का उच्च न्यायालय पटना में है जोकि वर्ष 1916 में स्थापित हुआ था।
  • बिहार में कुल 9 प्रमंडल ( पटना, मगध, कोसी, पूर्णिया,, मुंगेर, दरभंगा, भागलपुर, सारण और तिरहुत) है।
  • बिहार में कुल 38 ज़िला है।
  • अनुमंडलों कि संख्या 101है, प्रखंडों की संख्या 534 है।
  • जबकि बिहार में 8386 पंचायत है।
  • बिहार में कुल 22 विश्वविद्यालय है।
  • बिहार में लोकसभा सदस्यों की संख्या 40 हैं और राज्य सभा सदस्यों कि संख्या 22 है।
  • बिहार में विधान सभा सदस्यों की संख्या 243 है (242+1) एंग्लो- इंडियन
  • बिहार में विधान परिषद सदस्यों की संख्या 75 है।

राज्य में प्रथम

  • प्रथम राज्यपाल - जयरामदास दौलतराम
  • प्रथम मुस्लिम राज्यपाल- डॉ ज़ाकिर हुसैन
  • प्रथम मुख्य मंत्री - डॉ श्रीकृष्ण सिंह
  • प्रथम हरिजन मुख्यमंत्री - भोला नाथ पासवान शास्त्री
  • प्रथम शिक्षा मंत्री - सर गणेश दत्त
  • प्रथम मुस्लिम मुख्य मंत्री - अब्दुल गफूर
  • राज्य विधान सभा के प्रथम अध्यक्ष - रमदयालू सिंह
  • प्रथम महिला मुख्यंत्री- राबड़ी देवी
  • प्रथम खुला विश्वविद्यालय - नालंदा विश्वविद्यालय
  • प्रथम महाकवि - विद्यापति
  • अशोक चक्र प्राप्त करने वाला प्रथम व्यक्ति - स्व रणधीर वर्मा
  • प्रथम निर्दलीय मुख्यमंत्री - महामाया प्रसाद सिन्हा
  • सर्वोच्च न्यायालय के प्रथम मुख्य न्यायाधीश - भुवनेश्वर प्रसाद सिन्हा
  • प्रथम ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता - रामधारी सिंह दिनकर
  • प्रथम हिंदी समाचार पत्र - बिहार बंधु
  • प्रथम हिंदी दैनिक समाचार पत्र - सर्वहितैसी
  • प्रथम अंग्रेज़ी समाचार पत्र - द बिहार हेराल्ड
  • प्रथम भोजपुरी फिल्म - हे गंगा मैय्या तोहे पियरी चढ़ैबो
  • प्रथम मैथिली फ़िल्म - कन्यादान
  • प्रथम हिंदी फ़िल्म- कल हमारा है
  • प्रथम दूरदर्शन प्रसारण केंद्र - मुजफ्फरपुर

बिहार के प्रमुख पर्व

रामनवमी यह त्योहार राम जन्मोत्सव के रूप में पूरे बिहार में परम्परागत ढंग से मनाया जाता है। विशाल जुलूसों में राम कथा पर आधारित झांकियां निकलते है। लोग घरों, मंदिर जैसे पवित्र स्थानों पर झंडा लगाते है।

महावीर जयंती जैन धर्म के लोग अपने महान महावीर के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में इस त्योहार को मानते है। ये वैशाली महोत्सव के नाम से भी जाना जाता है।

छ्ठ अक्टूबर नवंबर में भक्तगण उगते और डूबते सूर्य की पूजा करते है। बिहार का ये विशेष रूप से मनाए जाने वाला पर्व है। दीपावली के छह दिन बाद मनाए जाने वाला यह पर्व बड़ा ही पवित्र माना जाता है।

इस त्योहार में भगवान सूर्य और छठ माता की आराधना की जाती है।  हिन्दुओं के प्रसिद्ध त्योहारों में से एक छठ वर्ष में दो बार मनाया जाता है। पहला है चैती छठ और दूसरा है कार्तिकी छठ। 

कार्तिक पूर्णिमा हिंदू धर्म में पूर्णिमा का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। प्रत्येक वर्ष 12 पूर्णिमाएं होती हैं। जब अधिकमास या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढ़कर १3 हो जाती है। कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा या गंगा स्नान के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन गंगा व गंडक के संगम तट पर सोनपुर और हाजीपुर में स्नान करने का विशेष महत्व है

सरस्वती पूजा इसे माघ मास के पंचमी के दिन मनाया जाता है। इसमें विद्या की देवी मां सरस्वती की आराधना की जाती है।